स्वास्थ्य
कोई गलती ना करें: स्वास्थ्य ही धन हैl सबसे बड़े हत्यारे बंदूकें, दवाइयाँ या कार दुर्घटनाएँ नहीं है, बल्कि हृदय रोग है, जो हमारे खाने के माध्यम से हम पर वार करता हैl

दिल का दौरा


एक शाकाहारी डाइट अपनाना हृदय रोग को रोकने का एक शक्तिशाली तरीका है। यहाँ तक कि एक ब्रिटिश अध्ययन के मुताबिक शाकाहारी भोजन खाने से आपको हृदय रोग होने की संभावनाएँ ३२% तक घट सकती हैं। मांसाहारी में भारी मात्रा में कोलेस्ट्रॉल और संतृप्त वसा होते हैं, जो कि हमारी धमनियों को जाम कर देते हैं।

इसके विपरीत, पौधों पर आधारित खाद्य पदार्थों में संतृप्त वसा कम मात्रा में होती है और कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। बिल्कुल नहीं होता है। इसके अतिरिक्त, कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले कुछ खाद्य पदार्थ जैसे फाइबर, असंतृप्त वसा और फाइटोकेमिकल्स विशेष रूप से पौधों पर आधारित खानों में ही पाए जाते हैं।

वज़न घटाएँ

मोटापा सिर्फ एक घमंड का मुद्दा नहीं है। अब इसे मधुमेह, हृदय रोग, और स्ट्रोक की वजह माना जाने लगा है।

विज्ञान कहता है की शाकाहारियों में मोटापा कम होता है। अमेरिकी राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार जो लोग डेयरी, मीट और अंडे नही खाते हैं उनके शरीर में मांसाहारियों की तुलना में लगभग २०% कम बॉडी मास होता है। इसका मतलब एक ही उम्र के एक शाकाहारी व्यक्ति और मांसाहारी व्यक्ति के वज़नो में लगभग ३० पौंड का अन्तर होगा।

मधुमेह से बचना


मधुमेह कोई मज़ाक नहीं हैl यह हृदय रोग, स्ट्रोक, गुर्दों की खराबी और शरीर के अंगों की खराबी का कारण पैदा कर सकता है। मधुमेह को रोकने में कौन हमारी मदद कर सकता है? एक स्वस्थ, शाकाहारी डाइट।

एक अध्ययन के अनुसार जो लोग मांस नही खाते हैं उनको मधुमेह होने की संभावनाएँ मांस खाने वालों की तुलना में ६२% कम होती हैं।
अगला पृष्ठ
पर्यावरण